रानी लक्ष्मी बाई जयंती पर अटेवा ने ओपीएस बहाली का लिया संकल्प

  • प्रदेश भर में किया दीपदान, सभा कर नई पेंशन को बताया छलावा
  • पुरानी पेंशन बुढ़ापे की लाठी का सहारा हक है हमारा: रंजना सिंह

  • लखनऊ। आल टीचर्स इम्प्लाइज एंड वेलफेयर एसोसिएशन (अटेवा) ने प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार बंधु के नेतृत्व व महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष रंजना सिंह के आह्वान पर रानी लक्ष्मी बाई की जयंती संकल्प दिवस के रूप में मनाया। प्रदेश भर में दीपदान कर सभा की गई। लखनऊ में कार्यक्रम में विजय बंधु ने कहा कि पूरे देश में पुरानी पेंशन बहाली तक आंदोलन चलता रहेगा। यहां महिला प्रकोष्ठ की जिला संयोजक संगीता, लता, निशा देवी, प्रतिमा श्रीवास्तव, गुड्डी देवी, प्रियंका, सुमन, रंजना, हेमलता, लक्ष्मी, दीप्ती मिश्रा, निधि यादव समेत भारी संख्या में लोग मौजूद रहे। वाराणसी में कचहरी तिराहे पर अम्बेडकर पार्क में कार्यक्रम हुआ। यहां महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष रंजना सिंह ने कहा कि एनपीएस एक छलावा मात्र है जिससे आगामी आने वाले समय में शिक्षिका/कर्मचारी बहनों को अपने बुढापे में सामाजिक सुरक्षा का लाभ न मिलकर वृद्धा आश्रम में जाने को मजबूर होना पड़ेगा। पुरानी पेंशन आजाद भारत की सामाजिक सुरक्षा इकाई है सरकार को इसे तुरंत बहाल करना चाहिए। यहां प्रदेश उपाध्यक्ष सत्येंद्र राय, जिला संयोजक चन्द्र प्रकाश गुप्ता, विनोद यादव, बीएन यादव, सुरेंद्र सिंह, सारिका दुबे, कल्पना, रीता, रुक्मणि, प्रीति आदि मौजूद रहे। जौनपुर में जिला संयोजक चन्दन सिंह, सुनीता यादव, अनिता बिंद, अर्पणा वर्मा, सुनीता पाल, अरविंद यादव आदि मौजूद रहे। सोनभद्र में महिला मोर्चा की जिला संयोजिका बबिता सिंह, अटेवा जिला संयोजक राज मौर्या, मंडल मंत्री रामगोपाल यादव, कमलेश यादव, सूर्य प्रकाश, राधेश्याम पाल, सर्वेश तिवारी, उमा सिंह, सीमा चौबे, कोमल, उत्तमा चतुर्वेदी, मंजरी, पूजा, मधु, अजय, रूमी परवीन, ख़ुशबू, स्वप्निल, कीर्ति, प्रतिमा, शिल्पी, शशिबाला, नमिता आदि अनेकों पेंशनविहीन साथी मौजूद रहे।

    सपा विधायक मो० आजम खान की विधायकी रद्द

    लखनऊ।सपा विधायक मो० आजम खान की विधायकी रद्द सम्बंधी आदेश

    होटल लेवाना में लगी आग को लेकर सीएम योगी के तेवर सख्त

  • अनियमितता और लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश
  • लखनऊ। पुलिस कमिश्नर लखनऊ और मंडलायुक्त की जांच की आख्या मिलने के बाद सीएम योगी ने दिए हैं निर्देश। गृह, ऊर्जा, नियुक्ति, एलडीए और आबकारी विभाग के अधिकारियों पर गिरेगी गाज। सभी अधिकारियों पर होगी विभागीय कार्रवाई। रिटायर्ड अधिकारियों के खिलाफ उनके विभागी नियमों का आलोक में होगी कार्रवाई। इन अधिकारियो पर गिरेगी गाज। गृह विभाग के अन्तर्गत श्री सुशील यादव तत्कालीन अग्निशमन अधिकारी, योगेन्द्र प्रसाद अग्निशमन अधिकारी-द्वितीय, विजय कुमार सिंह मुख्य अग्निशमन अधिकारी, ऊर्जा विभाग के विजय कुमार राव सहायक निदेशक विद्युत सुरक्षा, आशीष कुमार मिश्रा अवर अभियन्ता, राजेश कुमार मिश्रा उपखण्ड अधिकारी, नियुक्ति विभाग के तहत महेन्द्र कुमार मिश्रा पीसीएस (तत्कालीन विहित प्राधिकारी) लखनऊ विकास प्राधिकरण को निलम्बित करते हुए विभागीय कार्यवाही संस्थित की जाएगी। आवास एवं शहरी नियोजन विभाग (लखनऊ विकास प्राधिकरण) के श्री राकेश मोहन तत्कालीन सहायक अभियन्ता, जितेन्द्र नाथ दुबे तत्कालीन अवर अभियन्ता, रवीन्द्र कुमार श्रीवास्तव तत्कालीन अवर अभियन्ता, जयवीर सिंह तत्कालीन अवर अभियन्ता तथा राम प्रताप मेट लखनऊ विकास प्राधिकरण एवं आबकारी विभाग के सन्तोष कुमार तिवारी तत्कालीन जिला आबकारी अधिकारी लखनऊ, अमित कुमार श्रीवास्तव तत्कालीन आबकारी निरीक्षक सेक्टर-एक लखनऊ तथा जैनेन्द्र उपाध्याय उप आबकारी आयुक्त लखनऊ मण्डल को निलम्बित करते हुए विभागीय कार्यवाही संस्थित की जाएगी। प्रवक्ता ने बताया कि गृह विभाग के अन्तर्गत अभयभान पाण्डेय मुख्य अग्निशमन अधिकारी (सेवानिवृत्त) तथा आवास एवं शहरी नियोजन विभाग (लखनऊ विकास प्राधिकरण) के अरुण कुमार सिंह तत्कालीन अधिशासी अभियन्ता (सेवानिवृत्त), ओम प्रकाश मिश्रा तत्कालीन अधिशासी अभियन्ता (सेवानिवृत्त), गणेशी दत्त सिंह तत्कालीन अवर अभियन्ता (सेवानिवृत्त) के विरुद्ध सम्बन्धित विभागों के प्रचलित नियमों के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

    उत्तर प्रदेश में अटेवियन्स को बांधी गई पेंशन राखी

  • अटेवा महिला प्रकोष्ठ के आह्वान पर हुआ पेंशन राखी का आयोजन
  • क्रांतिकारी भाइयों से आंदोलन को तेज कर पेंशन बहाली का लिया संकल्प

  • लखनऊ। पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे संगठन अटेवा के महिला प्रकोष्ठ ने बुधवार से प्रदेश भर में पेंशन राखी अभियान की शुरुआत की। अटेवा के प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार बंधु के आह्वान पर प्रकोष्ठ की प्रदेश संयोजक रंजना सिंह के नेतृत्व में प्रदेश भर में महिलाओं ने अटेवा के जुझारू योद्धाओं को राखी बांधी। उनसे पुरानी पेंशन बहाल कराने के लिए आंदोलन को तेज कराने का संकल्प लिया।लखनऊ में मिनिस्ट्रियल एसोसिएशन ऑफ सर्किल ऑफिसेज सिंचाई विभाग के संघ भवन में अटेवा से जुड़ी महिलाओं ने विजय कुमार बंधु जी को राखी बांधकर मांगा OPS रूपी गिफ्ट बंधु जी ने भी वादा किया कि OPS बहाल कराकर देश की लाखों लाख बहनों को रिटर्न गिफ्ट दूँगा,वही वाराणसी में लोक निर्माण विभाग के गेस्ट हाउस में महिला प्रकोष्ठ के नेतृत्व में पेंशन राखी का आयोजन हुआ। यहां अटेवा से जुड़ी महिलाओं ने संगठन के पदाधिकारियों, सहयोगियों को राखी बांधी। रंजना सिंह ने कहा कि संगठन से जुड़े भाई पुरानी पेंशन की लड़ाई में योद्धा का कार्य कर रहे। इसलिए इस बार उन भाइयों के नाम पेंशन राखी का आयोजन किया गया। प्रदेश उपाध्यक्ष सतेंद्र राय ने कहा कि पुरानी पेंशन की लड़ाई एक आंदोलन है। यह पूरे देश मे मांग पूर्ण होने पर ही थमेगा। इस मौके पर निधि मौर्या, आरती, रचना गुप्ता, ज्योति द्विवेदी, जिला संरक्षक विनोद यादव, जिलाध्यक्ष चंद्रप्रकाश गुप्ता, रामचन्द्र गुप्ता, गुलाब चंद कुशवाहा, राजेश प्रजापति, प्रणव सिंह आदि मौजूद रहे,साथ ही जनपद सोनभद्र में बबिता सिंह ,निशा मालवीया, चन्द्र कला के द्वारा पेंशन राखी कार्यक्रम का आयोजन किया गया ।कानपुर देहात में महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश सह प्रभारी ज्योतिशिखा मिश्रा, जिला संयोजिका अनुपम प्रजापति, सुनीता सिंह आदि सक्रिय अटेवियन्स बहनों के नेतृत्व में कार्यक्रम हुआ। यहां बहनों ने क्रांतिकारी भाइयों को राखी बांधी। एटा में शिल्पी सौरभ, आरजू पांडेय, सुनीता सिंह ने अटेवियन्स को राखी बांधी।

    बच्चा पैदा करने का जाती तौर पर इंसान से कोई संबंध नहीं: सपा सांसद

    लखनऊ । बकरीद पर बिजली काटने पर अंजाम भुगतने की धमकी देने वाले सपा सांसद शफीकुर्र रहमान बर्क का विवादों से नाता तो बहुत पुराना है । लेकिन हाल ही में यूपी के मुखिया योगी आदित्यनाथ के जनसंख्या नियंत्रण कार्यक्रम को लेकर दिए बयान पर एक बार फिर से विवादित बयान दिया है । सांसद शफीकुर्र रहमान बर्क ने कहा कि औलाद पैदा करने का जाती तौर पर इंसान से कोई संबंध नहीं है । बच्चे पैदा करने का ताल्लुक अल्लाह से है । अल्लाह जब बच्चा पैदा करता है तो उसके खाने - पीने का इंतजाम करके दुनिया में भेजता है । सांसद ने सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि कानून लाने की बजाय मुस्लिमों की तालीम की व्यवस्था की जाए । जब अच्छी तालीम से कौम शिक्षित होगी तो बढ़ती जनसंख्या की समस्या अपने आप दूर हो जाएगी ।

    दिनेश लाल यादव ने सपा मुखिया अखिलेश यादव की तुलना मुगल शासकों से की

    लखनऊ । भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद भोजपुरी कलाकार दिनेश लाल यादव निरहुआ ने सपा मुखिया अखिलेश यादव की मुगल शासकों से तुलना की । उन्होंने आरोप लगाया कि अपनी कुर्सी बचाने के लिए सपा प्रमुख मुगलों की नीति अपना रहे हैं । निरहुआ ने दावा किया कि यादव और मुसलमान वोट बैंक पर एकाधिकार समझने . वाली सपा का यह समीकरण दोनों वर्गों के सियासी रूप से जागरूक होने की वजह से अब बिखर चुका है और समाजवादी पार्टी समाप्तवादी पार्टी बन गई है । निरहुआ ने रविवार को कहा कि अखिलेश यादव बहुत छोटे दिल के आदमी हैं । वह अपने सिवाय किसी को आगे नहीं बढ़ने देना चाहते । उन्हें किसी भीकीमत पर कुर्सी चाहिए । वह चाहते तो अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव को विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बनाकर खुद आजमगढ़ से सांसद बने रह सकते थे लेकिन कहीं चाचा आगे ना बढ़ जाएं इसलिए उन्होंने ऐसा नहीं किया । उन्होंने यह भी कहा , अखिलेश यादव को आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में सपा की निश्चित हार का अंदाजा हो गया था , इसलिए उन्होंने अपनी पत्नी डिंपल यादव को मैदान में उतारने के बजाय धर्मेंद्र यादव को उपचुनाव में उतारा ताकि धर्मेंद्र का नुकसान किया जा सके , क्योंकि अखिलेश को मालूम है कि धर्मेंद्र उनसे बेहतर नेता हैं । निरहुआ ने अखिलेश पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि सपा प्रमुख मुगलों की नीतियों से प्रभावित हैं ।

    डीबीटी ऐप पर बदलता वर्जन बना शिक्षकों की परेशानी का सबब

  • विद्यालयों का डेटा अपलोड करने में आ रही दिक्कत, विभाग बना रहा दबाव
  • लखनऊ। बेसिक शिक्षा विभाग ने परिषदीय स्कूलों के बच्चों का पंजीकरण, सत्यापन एवं धनराशि हस्तांतरण के लिए बीते साल डीबीटी ऐप लांच किया था। लांचिंग के बाद से ही यह ऐप सुर्खियों में हैं। इन दिनों डीबीटी ऐप पर शिक्षक काम कर रहे हैं लेकिन लगातार नए वर्जन आने से शिक्षक परेशान हैं। तकनीकी समस्याओं का त्वरित समाधान नहीं है। डीबीटी ऐप के जरिए न केवल बच्चों का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है बल्कि छात्र व अभिभावकों के आधार सत्यापन भी किए जा रहे हैं। विभाग लगातार शिक्षकों पर इस बात का दबाव डाल रहा है कि निर्धारित अवधि में डीबीटी एप पर काम कर लिया जाए। नाम न छापने की शर्त पर शिक्षक बताते हैं कि डीबीटी एप पर नित नए अपडेट आ रहे हैं, इससे काम में बाधा पहुंचती है। बात बात पर वेतन रोकने की धमकियां भी दी जा रही हैं। अब तक ऐप के 25 अपडेट आ चुके हैं।
  • मोबाइल बना विभाग की ‘प्रापर्टी’

  • सूत्र बताते हैं कि बीते दो सालों से विभाग शिक्षकों के फोन से लाखों बच्चों का डीबीटी एप पर न केवल फीडिंग, सत्यापन व पंजीकरण करा रहा है बल्कि गूगल मीट व आनलाइन ट्रेनिंग भी करा रहा है। तकनीकी रूप से अक्षम शिक्षकों को यह दौर भारी पड़ रहा है। उधर दूसरी ओर ग्रामीण शिकायत करते हैं कि शिक्षक हमेशा फोन पर लगे रहते हैं।
  • अब तक नहीं सुधार पाया एप>
    सूत्रों बताते हैं कि विभाग का डीबीटी ऐप शिक्षकों के बीच चर्चा का विषय है। इस एप में कभी लागिन तो कभी बच्चों की संख्या व अन्य सम्बन्धित बिन्दुओं पर कोई न कोई समस्या सामने आ रही है। शिक्षक इस एप से उकताने लगे हैं।
  • अब तक 260 हुए गिरफ्तार , छह केस दर्ज

    लखनऊ । सेना में भर्ती को लेकर केंद्र सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ - योजना के खिलाफ युवा लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं । इस प्रदर्शन में तोड़फोड़ की भी कोशिश की गई है । इसको लेकर अब उप्र पुलिस एक्शन में आ गई है । प्रदेश में अब तक 260 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका जबकि 6 केस दर्ज हुए हैं । बलिया में अब तक 109 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। मथुरा में 70 अलीगढ़ में 30 , वाराणसी कमिश्नरेट में 27, गौतम बुद्ध नगर कमिश्नरेट में 15,आगरा में 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया है । जबकि एक केस फिरोजाबाद में,एक अलीगढ़ में,तीन वाराणसी कमिश्नरेट में और एक गौतम बुद्ध नगर कमिश्नरेट में दर्ज की गई है ।

    विप के लिए बीजेपी ने घोषित किये 9 उम्मीदवार

    लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी की केन्द्रीय चुनाव समिति ने उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी विधान परिषद 2022 के लिए 9 नामों की घोषणा की है । पार्टी ने उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य , चौधरी भूपेन्द्र सिंह,दयाशंकर मिश्र दयालु,जेपीएस राठौर,नरेन्द्र कश्यप,जसवंत सैनी दानिश आजाद अंसारी,बनवारी लाल दोहरे,मुकेश वर्मा को विधान परिषद द्विवार्षिक चुनाव 2022 के लिए उम्मीदवार घोषित किया है । नौ प्रत्याशियों की सूची में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सहित सात मंत्रियों के नाम पहले से ही तय थे,जिसमें केशव प्रसाद के अलावा पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र चौधरी का परिषद में कार्यकाल खत्म हो रहा है,जबकि सहकारिता मंत्री जेपीएस राठौर,पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तीकरण मंत्री नरेन्द्र कश्यप,संसदीय कार्य एवं औद्योगिक विकास राज्यमंत्री जसवन्त सिंह सैनी,अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री दानिश आजाद अंसारी व आयुष , खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन मंत्री दयाशंकर मिश्र दयालु अभी किसी सदन के सदस्य नहीं हैं ।

    मुख्यमंत्री ने पवित्र रमज़ान माह की दी बधाई

  • कोरोना से बचाव को बरतें सभी सावधानियां 
  • लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  लने पवित्र रमज़ान माह के अवसर पर प्रदेश वासियों को हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं दी हैं। अपने शुभकामना संदेश में मुख्यमंत्री  ने कहा कि रमज़ान के पवित्र दिनों में रोज़ा, मानवता की सेवा, ईश्वर की बन्दगी जैसे नेक कार्यों से धैर्य, आत्म अनुशासन, सहनशीलता, सादगी आदि मूल्यों को बढ़ावा मिलता है। इससे परस्पर प्रेम और भाईचारे की भावना बलवती होती है। मुख्यमंत्री  ने कहा है कि उत्तर प्रदेश समरसता, भाईचारे और सांस्कृतिक एकता की मिसाल है। इसी विरासत और परम्परा को अक्षुण्ण रखते हुए कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत लोग सभी सावधानियां बरतते हुए रमज़ान के दौरान धार्मिक कार्य सम्पन्न करें।