महिला ने दो वर्ष के मासूम के साथ फांसी लगाकर दी जान

Share it:

  • दुर्घटना में पति की मौत होने की गलतफहमी पर उठाया कदम
  • घर मे लगा दी थी आग, धुआं उठने पर लोगों को हुई घटना की जानकारी
  • संगीता का जेठ वाहन दुर्घटना में हुआ था घायल, किया गया रेफर
  • बीजपुर (सोनभद्र)। स्थानीय थाना क्षेत्र अंतर्गत अंजानी गांव में रेणुकूट बीजपुर बस मार्ग पर शनिवार की दोपहर राखी लेने बीजपुर जा रहे एक अनियंत्रित ट्राला ने सड़क किनारे खड़े खंबे को तोड़ते हुए एक भारी भरकम पेड़ में टक्कर की मार दी।टक्कर इतनी जोरदार थी कि ट्राले के आगे का हिस्से के परखच्चे उड़ गए वही ट्राला चालक अंजानी निवासी सुनील सिंह (30)पुत्र जमुना सिंह ट्राला में फंस गया खलासी कूद कर भाग गया मौके पर चीख पुकार मच गयी ग्रामीण घटना स्थल की और दौड़ पड़े मामले की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी और गैस कटर की सहायता से चालक को ट्राला से निकलवा कर एनटीपीसी रिहंद के धन्वन्तरि चिकित्सालय ले जाया गया जहाँ डॉक्टरों ने उसकी हालत नाजुक देख उसे अन्यंत्र के लिए भेज दिया इसी बीच मामले की सूचना उसके परिजनों को मिली तो वो भी सभी घटना स्थल की और दौड़ पड़े घर मे बची अकेली चालक के छोटे भाई अजित सिंह की पत्नी संगीता (22) ने सुना तो वो समझी की उसके पति के साथ दुर्घटना हुयी है और वो मर गया वो चीखती चिल्लाती हुयी अपने दो वर्षीय मासूम यस सिंह के साथ कमरे में बंद हो गयी और कमरे में रखी चारपाई व बिस्तर पर आग लगा दी। खुद और दो बर्षीय बालक के साथ बडेर से नायलॉन की रस्सी के सहारे लटक कर जान दे दी। परिजन जब घर पहुंचे तो कमरे से धुआं देखा तो चीख पुकार मच गयी। अंदर से बंद दरवाजा खोला तो वहां का मंजर देख लोग स्तम्भ रह गए। मौके पर इक्कठा ग्रामीणों की भीड़ ने प्रयास कर आग पर काबू पाया तो संगीता व बच्चे के लटकते शव देख ग्रामीणों के दिल दहल गए। मामला की सूचना स्थानीय पुलिस को दी गयी मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों के पंचनामे के बाद अग्रिम कार्यवाही में जुट गयी।