मासूम बेटी संग पिता ने चलती ट्रेन से लगाई छलांग, दोनों की मौत

वाराणसी। स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस से नई दिल्ली से परिवार के साथ दरभंगा जा रहा युवक पहले तो ट्रेन में अजीबोगरीब हरकतें करता रहा। जब पत्नी ने उसे डांटा तो मासूम बेटी को गोद में लेकर उसने चलती ट्रेन से छलांग लगा दी। यह घटना रविवार को वाराणसी के मिर्जामुराद थाना क्षेत्र के बहेड़वा हाल्ट के पास हुई। इस दर्दनाक हादसे में मासूम बेटी और पिता की मौत हो गई। बोगी के यात्रियों और मृतक की पत्नी से पूछताछ के बाद पुलिस इस नतीजे पर पहुंची की घटना का कारण पारिवारिक विवाद है। मासूम बेटी और पति को खोनेवाली मृतक की पत्नी जरीना बेगम ने सपने में नही सोचा था कि उसका पति ऐसा कदम उठा लेगा। जानकारी के अनुसार नई दिल्ली से 32 वर्षीय हीरा अपनी तीन वर्षीया बेटी रोजी और पत्नी जरीना बेगम के साथ स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस से दरभंगा जा रहा था। हीरा मूल रूप से दरभंगा जिले के भवानीपुर थाना क्षेत्र के घनश्यामपुर गांव का रहने वाला था। वह दिल्ली में रह कर काम करता था। बताया जाता है कि ट्रेन जब मिर्जामुराद क्षेत्र के बहेड़वा हाल्ट के पास पहुंची तो चलती ट्रेन से हीरा ने मासूम रोजी के साथ छलांग लगा दी। आनन-फानन में जरीना ने चेन पुलिंग कर ट्रेन रुकवाई। यात्रियों ने नीचे उतर कर देखा तो मासूम रोजी की मौत हो चुकी थी। घायल हीरा को बीएचयू ट्रॉमा सेंटर ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया।मिर्जामुराद पुलिस के अनुसार परिजनों को घटना की जानकारी दे दी गई है। पिता और पुत्री का शव पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया जा रहा था। इस घटना के कारण करीब आधे घंटे तक ट्रेन बहेड़वा गांव के सामने ट्रेन रुकी रही। ट्रेन की बोगी में सवार यात्रियों के अनुसार हीरा ट्रेन में अजीबोगरीब हरकतें कर रहा था। ऐसा लग रहा था। इसे लेकर उसकी पत्नी जरीना बेगम ने उसे कई बार फटकार भी लगाई थी, यात्रियों ने भी उसे डांटा। माना जा रहा है कि पत्नी की डांट से क्षुब्ध होकर हीरा ने चलती ट्रेन से अपनी मासूम बेटी के साथ छलांग लगा दी।

ट्रेन की चपेट में आकर चुनार के युवा व्यवसायी की मौत, परिवार सदमे में

वाराणसी। हैदराबाद व्यापार करनेवाले व्यापारी संतोष कुमार (36) की शनिवार को भुल्लनपुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से उतरते समय गिरने से मौत हो गई। मृतक मिर्जापुर जिले के चुनार थाना क्षेत्र के रूदौली गांव का निवासी था, यह हादसा तब हुआ जब उसके माता-पिता भी साथ थे, अपने इकलौते बेटे की आंखों के सामने हुई मौत से उन्हें बहुत बड़ा सदमा लगा है। जीआरपी ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।संतोष के मौत की सूचना पर भुल्लनपुर स्टेशन पहुंचे परिजनों में से एक रिश्तेदार रामलाल गुप्ता ने बताया कि संतोष हैदराबाद में व्यवसाय करता था। वह अपने माता-पिता और फुफेरे भाई के साथ पटना-सिकंदराबाद ट्रेन से घर आ रहा था। ट्रेन भुल्लनपुर स्टेशन पर एक मिनट के लिए रूकी। इतने में संतोष ने अपने परिजनों के साथ सामान उतार रहा था तब तक ट्रेन चल दी, जल्दी में ट्रेन से उतरने की कोशिश में उसका पैर फिसला और वह ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच फंस गया और उसकी मौत हो गई। संतोष को प्लेटफार्म और ट्रेन के बीच फंसा देख माता-पिता और फुफुरे भाई चिल्लाते रह गये लेकिन ट्रेन चली गई। सूचना पर जीआरपी पहुंच कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

किसान का बेटा बना असिस्टेंट आडिट आफिसर

  • कम्प्यूटर साइंस से बी टेक है रितेश सिंह
  • चयन से परिवार व शुभचिंतकों में खुशी की लहर

  • वाराणसी। खेतों में हाड़तोड़ मेहनत कर फसल उगाने वाले किसान के बेटे ने असिस्टेंट आडिट ऑफिसर बनकर अपने पिता का सीना चौड़ा कर दिया है। उन्होंने एसएससी सीजीएल परीक्षा में 128वां रैंक हासिल किया है। उनकी इस सफलता से उसके परिजनों के साथ ही शुभचिंतकों में खुशी की लहर है। मिर्जापुर जिले के चुनार तहसील के डूहीकला गांव निवासी किसान रवि प्रकाश सिंह के पुत्र रितेश कुमार सिंह ने अपने प्रथम प्रयास में ही यह सफलता हासिल किया है। रितेश के दादा प्रमोद कुमार सिंह पंडित कमला पति त्रिपाठी इंटर कालेज वाराणसी में प्रवक्ता पद से सेवानिवृत्त हैं। रितेश ने एसएससी सीजीएल की तैयारी बीटेक करने के बाद शुरू की थी। उनकी प्रारंभिक शिक्षा संत अतुलानंद वाराणसी से शुरू हुई। उनका सफलता परिणाम तब आया जब महज 15 दिन पूर्व ही उनकी माता सुनीता देवी का निधन डेंगू से हुआ था। परिवार में छाए गम के बीच रितेश की सफलता ने खुशी का एक माध्यम दिया है।

    अन्तर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर अटेवा ने सेवानिवृत्त कर्मचारियों को किया सम्मानित

  • बिन पेंशन बुढ़ापा होगा कष्ट दायक

  • सभी रिटायर्ड कर्मियों ने साझा किए अपने अनुभव
  • वाराणसी। अन्तर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर अटेवा पेंशन बचाओ मंच वाराणसी द्वारा,"शहीद डॉ0 राम आशीष सिंह स्मृति सम्मान" देकर सेवानिवृत्त शिक्षकों/कर्मचारियों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला संयोजक- चंद्रप्रकाश गुप्त एवं संचालन पूर्व जिला संयोजक विनोद यादव ने किया। अटेवा पेंशन बचाओ मंच उप्र. के आह्वान पर अटेवा मंच वाराणसी उत्तर प्रदेश के पदाधिकारियों द्वारा सेवानिवृत्त शिक्षकों/कर्मचारियों मे प्रमोद कुमार सिंह, रामचंद्र गुप्ताजी, जसराज सिंह , शिवनारायण, लालजी, रमाशंकर शास्त्री, इंद्रावती जी, मृदुला गुप्ताजी, मोहम्मद जमाल अहमद खान, मोहम्मद शकील अंसारी, रमाशंकर यादव, कान्ता प्रसाद को अंगवस्रम के साथ स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।सभी सम्मानित सदस्यों ने एक स्वर से कहा कि एनपीएस केवल धोखा है। इसे समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना(ओपीएस)अविलम्ब लागू की जानी चाहिये। अन्यथा एनपीएस मे रिटायर्ड शिक्षक/कर्मचारी का बुढ़ापा बहुत कष्टदायक होगा। एनपीएस से रिटायर्ड सदस्यगण ने कहा कि इस मंहगाई के दौर में इतनी कम पेंशन मिल रही है कि जीवन जीने की अभिलाषा ही खत्म हो गयी है। कार्यक्रम में प्रदेश उपाध्यक्ष- सत्येन्द्र राय ने कहा कि आने वाले दिनों NPS बहुत बड़ा घोटाला साबित होगा। प्रदेश महिला विंग अध्यक्षा- रंजना सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि मातृ शक्तियों को इस आंदोलन में अपनी ज्यादा से ज्यादा भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिए,कार्यक्रम का समापन जिला संयोजक चंद्रप्रकाश गुप्ता ने सभी को धन्यवाद व आभार व्यक्त करते हुए किया इस कार्यक्रम में पूर्व जिला संयोजक-विनोद यादव, ज़िला महामंत्री बी एन यादव, नियमित वर्क चार्ज कर्मचारी संघ(पीडब्ल्यूडी) जिला अध्यक्ष- उमेश बहादुर सिंह,नीतीश प्रजापति, ज़िला सहसंयोजक एहतेशामुल हक,प्रमोद पटेल,जफ़र अंसारी,अजय यादव,गुलाब चंद कुशवाहा, अंजनी कुमार सिंह,सुरेंद्र प्रताप सिंह,राजेश प्रजापति,मिथिलेश कुमार,शशांक रंजन, शैलेष, बी एन ठाकुर,संदीप यादव, सारिका दुबे,राजेश पटेल,राममूर्ति,शिवमुनि,शकील अंसारी,विनोद यादव,धर्मेंद्र कुमार सहित अनेक शिक्षक/कर्मचारी उपस्थित रहे।

    1 अक्टूबर को अटेवा पेंशन बहाली मंच द्वारा सेवानिवृत्त शिक्षक/कर्मी का किया जाएगा सम्मान

    वाराणसी। एक अक्टूबर 2022 को अटेवा पेंशन बहाली मंच उ.प्र. द्वारा प्रत्येक जिला मुख्यालय पर सेवानिवृत्त शिक्षक/कर्मी के सम्मान समारोह का आयोजन करेगा जिसके सम्बंध में आज दिनांक 24/09/22को एक बैठक अटेवा पेंशन बहाली मंच वाराणसी का उत्तर प्रदेशीय चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ कार्यालय नदेसर वाराणसी पर सम्पन्न हुआ जिसमें आगामी कार्यक्रम की तैयारी को लेकर विचार विमर्श किया गया।जिसमें प्रदेश उपाध्यक्ष सत्येंद्र राय,प्रदेश अध्यक्षा महिला विंग रंजना सिंह ,जिला संरक्षक रामचंद्र गुप्ता , पूर्व जिला संयोजक विनोद यादव,जिला संयोजक चंद्र प्रकाश गुप्त,जिला महामंत्री बीएन जी,जिला कोषाध्यक्ष गुलाब चंद कुशवाहा , जिला सह संयोजक एहतेशाम जी, जिला संगठन मंत्री जफर जी, अजय , अंजनी सिंह , सोशल मीडिया प्रभारी सुरेंद्र प्रताप सिंह , मीडिया प्रभारी राजेश प्रजापति, आय-व्यय निरीक्षक शकील अंसारी, जिला कार्यकारिणी सदस्य राममूर्ति, ब्लॉक संयोजिका चिरईगांव सारिका दुबे आदि लोग उपस्थित रहे ।

    एनओसी के लिए रिश्वत लेते लेखपाल संघ का अध्यक्ष गिरफ्तार

    वाराणसी। पेट्रोल पंप के लिए जमीन की अनापत्ति प्रमाण पत्र बनवाने के नाम पर रिश्वत मांगना लेखपाल संघ के राजातालाब तहसील अध्यक्ष संजय वर्मा  को महंगा पड़ गया। एंटी करप्शन टीम ने लेखपाल को 40000 रूपये रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार कर रोहनिया पुलिस को सौंप दिया।. रोहनिया थाना क्षेत्र के नरउर के रहने वाले अजीत कुमार सिंह इंडियन ऑयल पेट्रोल पम्प का आवेदन किए थे। इसके लिए जिलाधिकारी के यहां से जमीन की जांच और एनओसी के लिए तहसील को निर्देशित किया गया। तहसील से मामले की जांच क्षेत्रीय लेखपाल संजय वर्मा को सौंपी गई थी, पीड़ित अजीत कुमार का आरोप है कि अप्रैल माह से ही लेखपाल के पास पेपर आ गया था, जब मैं उसके बारे में जानकारी हासिल करने की कोशिश करता तो टालमटोल कर देते थे। इन्होंने फिर कहा कि 80 हजार खर्चा आएगा क्योंकि ऊपर के अधिकारियों को भी देना है। अजीत ने पहले असमर्थता जताई लेकिन फिर पांच-पांच हजार करके दो बार पैसे दिए। पिछले 17 सितंबर को लेखपाल ने पैसे की मांग की तब परेशान होकर एंटी करप्शन टीम से संपर्क किया। टीम ने पीड़ित अजीत कुमार के साथ मोहनसराय स्थित मिश्रा कटरा में लेखपाल के बने अस्थाई कार्यालय पर पैसे देने की योजना बनाई। गुरुवार को कार्यालय पर पहुंचकर पेपर के बारे में बात करते हुए अजीत ने 40 हजार रूपये दिए, जिसे आरोपी लेखपाल संजय वर्मा ने अपनी पैंट की जेब में डाल ली। इसी दौरान एंटी करप्शन टीम ने मौके पर पहुंचकर पैसे को निकलवाया नोटों का नम्बर टीम के पास पहले से मौजूद था साथ ही नोटों पर केमिकल पहले से लगाए गए थे।

    विवाद के बाद विषाक्त खाकर दी जान, उकसाने के आरोप में महिला पर केस

    सोनभद्र। राबर्ट्सगंज नगर के कांशीराम आवास कालोनी में 50 वर्षीय गोविंद सिंह की विषाक्त पदार्थ खाने से मौत हो गई। उसने एक महिला के घर पर उससे विवाद के बाद विषाक्त पदार्थ खा लिया। मंगलवार को मृतक के शव का पोस्टमार्टम जिला अस्पताल में कराया गया। पुलिस ने आरोपित महिला के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है। घटना के बाद से महिला फरार है। कांशीराम आवास कालोनी निवासी गोविंद सिंह अपने परिवार को छोड़ आवास में ही एक दूसरी महिला के साथ रहता था। सोमवार को किसी बात को लेकर उसका महिला से विवाद हो गया। इसके बाद उसने एक सुसाइड नोट लिखकर महिला के घर में ही विषाक्त पदार्थ खा लिया। इससे उसकी हालत गंभीर हो गई। तब महिला के घर वालों ने मामले की जानकारी गोविंद के स्वजन को दिया। स्वजन उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे जहां गंभीर हालत देख चिकित्सक ने उसे वाराणसी के लिए रेफर कर दिया। वाराणसी जाते समय गोविंद की रास्ते में मौत हो गई। इसके बाद स्वजन शव लेकर जिला अस्पताल पहुंचे आैर मामले की जानकारी पुलिस को दी। कांशीराम आवास चौकी इंचार्ज बृजेश कुमार दूबे ने बताया कि मृतक के स्वजन की तहरीर पर आरोपित महिला के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

    दहेज के लिए गर्भवती महिला के साथ मारपीट,गंभीर

    वाराणसी। बड़ागांव थानाक्षेत्र के इंद्रवार गांव में दहेज में नगदी और एसी न मिलने के कारण एक गर्भवती विवाहिता को ससुराल पक्ष के लोगों ने मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया । उसे एक,निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है , जहां उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है । पिड़िता और उसके भाई ने बीती देर शाम पति सहित ससुराल पक्ष के पांच लोगों के विरुद्ध दहेज प्रथा अधिनियम सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कराया है । आयर गांव निवासी स्व० नवीन चंद्र जोशी की पुत्री अस्मिता की शादी कुछ वर्ष पूर्व विशाल के साथ हुई थी । ससुराल पक्ष के लोग विवाहिता से एक लाख नगद और एक एसी की मांग करने लगे । मायके वालों द्वारा असमर्थता व्यक्त करने पर ससुराल पक्ष ने विवाहिता को मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया । विवाहिता का भाई अभिषेक जोशी उसे अस्पताल ले गया जहां उसका गर्भपात हो गया तथा पीड़िता जीवन के लिए संघर्ष कर रही है ।

    लुटेरे आटो चालकों का गिरोह गिरफ्तार

    वाराणसी। कैंट पुलिस द्वारा लूट की घटना को अंजाम देने वाले टैंपो ! चालकों के गिरोह का पर्दाफाश कर गिरोह में शामिल 6 सदस्यों को। बरामद हुए हैं। गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से लूट के काफी सामान भी - इस संबंध में आज वरुणा जोन कार्यालय में डीसीपी वरुणा आरती सिंह ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया ! कि पकड़े गए अभियुक्त कैंट रेलवे स्टेशन से सवारी बैठाकर उन्हें सूनसान जगह पर ले जाकर लूटपाट करते थे । विरोध करने पर ये सवारी के साथ मारपीट करते थे । इनके पास से घटना में प्रयुक्त एक लकड़ी का गठीला डंडा बरामद हुआ है । वहीं पुलिस ने 2 टैंपो,9 मोबाइल 13,150 रूपए नकद और1.2 किलों ग्राम गांजा व एक पीले धातु का टुकड़ा भी बरामद किया है ।

    बुजुर्ग महिला का शव मिला

    वाराणसी । जैतपुरा थाना क्षेत्र के संजय गांधी नगर कालोनी के एक फ्लैट से बदबू आने की सूचना पर मौके पर पहुंची जैतपुरा पुलिस ने एक बुजुर्ग महिला का शव बरामद किया है । पुलिस को बुजुर्ग अपर्णा बनर्जी ( 85 ) का शव बाथरूम में पड़ा मिला । देखने से शव 4-5 दिन पुराना प्रतीत हो रहा था । महिला की हृदयाघात से मौत की आशंका व्यक्ति की गई है । पुलिस के अनुसार मृत वृद्धा अपर्णा बनर्जी फ्लैट में अकेले रहती थी और उनके आगे पीछे कोई नही है । जानकारी के अनुसार अपना फ्लैट भी वह किसी संस्था को दान कर चुकी है । शव कब्जे में लेकर पुलिस आवश्यक विधिक कार्रवाई में जुटी थी ।